6 दिसंबर : दंगों के बीच जब आजिम के परिजनों को हिन्दू परिवार ने दी शरण

0
4
6 December6 दिसंबर : दंगों के बीच जब आजिम के परिजनों को हिन्दू परिवार ने दी शरणUpdated: December 6, 2018, 3:28 AM IST. ऑटो ड्राइवर मोहम्मद आजिम को अब भी छह दिसंबर, 1992 की डरावनी रात याद है जब उन्होंने यहां के कुछ अन्य मुस्लिम बाशिंदों के साथ अपनी जान की खातिर खेतों में शरण ली थी. तब महज 20 साल के रहे आजिम ने कहा, ‘उन्मादी कारसेवकों’ की फौज ने बाबरी मस्जिद ढ़हा दी थी जिसके बाद अशांति एवं डर का माहौल बन गया था. हम इतने डर गये थे कि हमें नहीं पता था कि हम क्या करें.’ अब चार बच्चों के पिता 46 वर्षीय आजिम परेशान हो उठे हैं कि राममंदिर मुद्दा फिर कुछ नेताओं और संघ परिवार द्वारा उठाया जा रहा है और अयोध्या के ‘नाजुक शांतिपूर्ण माहौल’ के लिए खतरा पैदा किया जा …By:-News18 इंडिया
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here